Mon. Aug 8th, 2022

झारखण्ड के जिला खूंटी में गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में नाम दर्ज करा चुका डॉक्टर 365 एवं आर के एच आईवी एड्स रिसर्च के एंड केयर सेंटर द्वारा फ्री जेनर मेडिकल  कैम्प का आयोजन किया गया । शामिल हुए केंद्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा व झारखंड के राज्यपाल रमेश वैस।।                           झारखंड में पहली बार छेत्रिय लेबल पर इतिहास रचने का काम  आर के एच आई वी एड्स रिसर्च एंड केयर सेंटर के चेयरमैन डॉ धर्मेंद्र कुमार  और उनकी पूरी टीम ने मिलकर किया है ।

*92,000 से अधिक लोगों का देश भर से जुटे 350 से ज्यादा. डॉक्टरों ने विभिन्न रोगों के लिए किया जांच।खूंटीअबुआ बुगिन स्वाथ्य’ यानि कि ‘हमारा बेहतर स्वास्थ’  विषय पर नवा पहल जनजातीय संवाद के तहत आज ज़िला खूंटी के बिरसा कॉलेज परिसर में मेगा स्वस्थ मेला का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम भारत सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय द्वारा स्थानीय जिला प्रशासन के सहयोग से आयोजित किया गया।

इस स्वास्थ्य कैंप में 92 हज़ार से अधिक ग्रामीण महिला, पुरुषों ने देश भर के बड़े अस्पतालों से आए विभिन्न आयामों के 350 से अधिक स्पेशलिस्ट डॉक्टरों से अपना स्वास्थ जांच कराया ।

कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलित कर एवं अतिथियों के आदर सत्कार से शुरू किया गया।

प्रोग्राम में मुख्य रूप से केंद्रीय मंत्री श्री अर्जुन मुंडा, पद्मभूषण तथा पूर्ण लोक सभा डिप्टी स्पीकर श्री करिया मुंडा, स्थानीय विधायक कोचे मुंडा व नीलकंठ सिंह मुंडा, जनजातीय मामले मंत्रालय के सचिव एवं संयुक्त सचिव श्री अनिल कुमार झा तथा श्री नवल कपूर, उपायुक्त खूंटी श्री शशि भूषण, पुलिस अधीक्षक आर  के एच आई वी एड्स रिसर्च एंड केअर सेंटर के चेयरमैन डॉक्टर धर्मेन्द्र कुमार, डॉ अशोक अत्रम जॉइन सेक्रेटरी हेल्थ ऑफ महाराष्ट्र , डॉ मनोज अग्नी हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जन,डॉ दिलीप पवार ऑन्कोलॉजिस्ट,डॉ गोविंद रेड्डी रीजनल डायरेक्टर ऑफ आयुष,दिलीप टुरी  डायरेक्टर ऑफ आर के एच वी ग्रुप बंगाल, अमित गाला  डायरेक्टर ऑफ फाइनांस, डॉ अनिता रांडेरिया, डॉ विमल रांडेरिया फिजियोथैरेपी ,अमित डोसी  एडवाइजर,डॉ प्राची बेडेकर डॉक्टर कोडिनेटर, डॉ अंजलि इत्यादि और खूंटी के साथ देशभर से आए कई गण्मान्य डॉक्टर शामिल हुए ।

मेले में सामान्य जांच से लेकर तमाम बड़ी बीमारियों की जांच निःशुल्क किया गया, और साथ साथ, दवाई भी वितरण किया गया। एलिमको की तरफ से 3000 दिव्यांग लोगों को कृत्रिम अंग उपकरण भी प्रदान किए गए। 100 से अधिक लोगों द्वारा रक्तदान किया गया। 28600 लोगों को चश्मे दिए गए।

इस प्रोग्राम के संबोधन से पहले माननीय राज्यपाल महोदय रमेश बैस ने रिमोट के जरिए इसका विधिवत उद्घाटन किया। राज्यपाल महोदय ने अपने संबोधन में कहा कि धरती आबा बिरसा मुंडा की धरती पर आज ये प्रोग्राम होता हुआ देखकर बहुत अच्छा लग रहा है, देश की आज़ादी में हमारे जनजातियों का अविस्मरणीय योगदान है। झारखंड वीरों की धरती है। पूरे देश में आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, बेहतर स्वास्थ से सच्चे सुख का आनंद मिलता है,  मुझे विश्वास है की आज इस स्वस्थ मेले में लोगों को बेहतर इलाज किया जाएगा, और इस तरह के प्रयासों को गांव के स्तर पर भी ले जाया जाएगा। तभी इसका लाभ आम जनों तक जाएगा। कार्यकर्म  की समाप्ति के बाद उन्होंने तमाम हेल्थ चेकअप स्टॉल का जायज़ा भी लिया।

इस प्रोग्राम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री श्री अर्जुन मुंडा ने कहा, की आज बिरसा मुंडा की धरती पर इतना बड़ा स्वास्थ मेला का आयोजन कर मन गर्वित है। हम आगे भी ऐसे आयोजन करते रहेंगे। ये नवा पहल स्वास्थ्य मेला  हमारे जिला का मान बढ़ाएगा, इससे भले ही लोगों को आकर खुशी न मिले मगर घर जा कर अवश्य खुशी का पल महसूस होगा।

श्री मुंडा ने आगे कहा कि आज भारत सरकार आज़ादी का 75 वां अमृत महोत्सव मना रही है। आज हमे एक दूसरे को समझने की ज़रूरत है,तभी हम देश की तरक्की करेंगे। उन्होंने कहा कि आदिवासियों को समझाने की जरूरत नहीं, उन्हें समझने की जरूरत है। आज भारत सरकार देश के एक राज्य से आदिवासी महिला को राष्ट्रपति का  उम्मीदवार बनाया है और यह बहुत ही गर्व की बात है कि पहली बार एक आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनकर आएंगी।

अबुआ बुगिन स्वास्थ मेला (हमारा बेहतर  स्वास्थ) के आयोजन से पता चलेगा की खूंटी क्षेत्र में जितने भी लोग आज रजिस्ट्रेशन का फ्रॉम भरे हैं, इससे उनके बीमारियों का पता चलेगा और उनका और बेहतर इलाज घर पर आकर किया जायेगा।

प्रोग्राम में मौजूद श्री करिया मुंडा, विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा तथा कोचे मुंडा, उपायुक्त खूंटी, जनजातीय मंत्रालय के सचिव और इस परियोजना सेजुदे प्रमुख चिकित्सकों  ने भी बारी बारी से अपनी बातें रखी।

उक्त स्वास्थ्य शिविर में शिशु रोग, महिला रोग, दांत रोग, कैंसर रोग, हड्डी रोग, हृदय रोग, चर्म रोग, पेट रोग, न्यूरो रोग, नेत्र रोग, यूरो रोग, मधुमेह रोग, रक्त रोग आदि रोगों के विशेषज्ञ चिकित्सक सहित 300 से अधिक डाॅक्टर मौजूद थे। शिविर में सामान्य रोगों की भी जांच कर निःशुल्क दवाईयां दी गई। इसके अलावा शिविर में प्लास्टिक सर्जरी, स्टेम सेल थेरेपी सहित अन्य सुविधाएं से जुड़े विशेषज्ञ भी उपलब्ध थे।

 

झारखण्ड के जिला खूंटी में  गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में नाम दर्ज करा चुका डॉक्टर 365 एवं आर के एच आईवी एड्स रिसर्च के एंड केयर सेंटर द्वारा फ्री जेनर मेडिकल  कैम्प ।

Print Friendly, PDF & Email

By admin